Home Hindi बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के लिए प्रचार खत्‍म,...

बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के लिए प्रचार खत्‍म, अब फैसला वोटरों के हाथ..

204
0


बिहार की सभी रैलियों में जनता का ढेर सारा प्यार मिला, इस भूमि को चरण स्पर्श: पीएम मोदी

इस पर बीजेपी ने दावा किया कि विपक्ष के नेता ने अपनी आसन्न हार के मद्देनजर ऐसे आरोप लगा रहे हैं.इस चरण में भी प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की रैलियां में बेतुकी घटनाएं जारी रहीं.मधुबनी में एक चुनावी रैली में नीतीश की ओर पत्थर और प्याज फेंके जाने पर उन्होंने ऐसा करने वालों से कहा, “फ़ेंको, और फ़ेंको” .विपक्षी महागठबंधन मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तथा राजद नेता तेजस्वी यादव भी लगातार अपने प्रचार अभियान में लगे रहे और इस चरण में भी कई रैलियों को संबोधित किया.बीजेपी ने विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए अपने कई दिग्गजों को मैदान में उतारा जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल हैं.

रोजगार-कोरोना मुद्दे पर राहुल गांधी ने पीएम और CM नीतीश कुमार पर साधा निशाना..

NDA में शामिल जेडीयू  से नाता तोड़कर अपने बलबूते चुनाव लड़ रही लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी इस चरण में कई रैलियां और रोड शो किए. लोजपा को इस चुनाव के बाद नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार्य नहीं हैं.बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के अंतर्गत राज्य के मुस्लिम बहुल सीमांचल क्षेत्र के कई विधानसभा क्षेत्र आते हैं.एआईएमआईएम जो रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और मायावती की बीएसपी सहित कुल छह दलों का गठबंधन बनाकर यह चुनाव लड़ रही है, के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भाजपा और मोदी को बढ़ावा मिलने के लिए कांग्रेस-आरजेडी  गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया.

बिहार चुनाव : नीतीश कुमार पर फेंकी प्याज तो बोले तेजस्वी यादव- ये अलोकतांत्रिक व्यवहार

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि तृतीय चरण के कुल 78 विधानसभा क्षेत्रों में सात नवम्बर को मतदान होना है, और उनके लिए बुधवार की शाम छह बजे प्रचार समाप्त हो गया.ये 78 विधान सभा क्षेत्र राज्य के जिन जिलों में पड़ते हैं, वे पश्चिम चम्पारण, पूर्वी चम्पारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, मधेपुरा, सहरसा, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, वैशाली तथा समस्तीपुर हैं. इस चरण में कुल 1204 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं, जिनमें 110 महिला शामिल हैं.तृतीय चरण में सबसे अधिक प्रत्याशी (31) गायघाट में तथा सबसे कम प्रत्याशी (9) चार विधानसभा क्षेत्रों ढ़ाका, त्रिवेणीगंज, जोकीहाट और बहादुरगंज में हैं.

नीतीश की सभा के दौरान फेंके गए प्‍याज, सीएम बोले-खूब फेंको, फेंकते रहो

अंतिम चरण में अपनी सीट बरकरार रखने की चाह रखने वालों में बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी और राज्य के कैबिनेट मंत्री सुरेश शर्मा और प्रमोद कुमार प्रमुख हैं.एक और उम्मीदवार, जिसने लोगों की जिज्ञासा को बढ़ाया है, सुभाषिनी यादव, मधेपुरा जिले के बिहारीगंज से कांग्रेस की उम्मीदवार हैं, जो अपने पिता और दिग्गज समाजवादी नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव की राजनीतिक विरासत को बचाने चुनावी मैदान में पहली बार उतरी हैं.बिहार विधानसभा के तृतीय चरण में क्षेत्रवार सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र वाल्मीकिनगर है जबकि मतदातावार सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र सहरसा है तथा मतदातावार सबसे छोटा विधान सभा क्षेत्र हायाघाट है. इस चरण में कुल 2,35,54,071 मतदाता जिसमें 1,12,06,378 महिला तथा 894 ट्रांस जेन्डर शामिल हैं, अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे.

बिहार ने जंगलराज व डबल-डबल युवराजों को सिरे से नकारा: पीएम मोदी

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here